एंटोनी रेमंड की संपादकीय

1865 में, ग्रेनोबल में, अल्बर्ट पियरे रेमंड और उनके सहयोगियों  ने रेमंड मैसन की पहली आधारशिला रखी। ऐसे समय में जब हम इतिहास के 150 साल का जश्न मना रहे हैं, आपको इस असाधारण उद्यमशीलता, मानवीय और औद्योगिक साहस की खोज करने के लिए आमंत्रित करते हुए मैं विशेष रूप से खुश हूँ। जोश, साहस और नवोन्मेष के 150 साल जिसने एक छोटे परिवार के कारखाने को दुनिया के श्रेष्ठ औद्योगिक संयोजन इकाइयों के बीच खुद को स्थापित करते हुए, एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क में तब्दील कर दिया। 

जबकि हर जगह से एक कठिन आर्थिक माहौल की गूंज  सुनाई दे रही थी, हम आपके साथ दुनिया में एक फ्रांसीसी कंपनी की असाधारण सफलता साझा करना चाहते थे। एक कंपनी जिसका निर्माण उन्नीसवीं सदी के अंत में हुआ, जो संस्था के मूलमन्त्रो; नई खोज करना तथा उसे पेटेंट से सुरक्षित करना , औद्योगीकरण और अंतरराष्ट्रीयकरण पर आधारित है और विकसित हुआ है जो आज भी प्रासंगिक है।

अंत में, और क्योंकि सबसे खूबसूरत सफलता, जुनून के साथ किये मानव साहसिक कार्य, प्रतिबद्धता और टीम भावना से आती है, हम उन सभी का सन्मान करना चाहते थे, जो आज इस असाधारण औद्योगिक गाथा के केंद्र बिंदु में हैं। दुनिया भर में, उत्साही महिला और पुरुष जो अपनी प्रतिभा का उपयोग कर एं रेमंड की सुंदर कहानी लिख रहे है, हम उनका ह्रदय से धन्यवाद करते है। 

Antoine Raymond